Home Good Morning वेलेंटाईन सप्ताह में तीसरा दिन होता है,चॉकलेट डे

वेलेंटाईन सप्ताह में तीसरा दिन होता है,चॉकलेट डे

21
0

वेलेंटाईन सप्ताह में तीसरा दिन होता है,चॉकलेट डे। जिस प्रकार हमारे यहाँ रिश्ते सगाई और विवाह और वधु के आवागमन आदि के महूर्त है,ठीक ऐसा ही ये भी सामाजिक रूप से व्यक्तिगत प्रेम की अभिव्यक्ति करने का साप्ताहिक महूर्त है,अन्यथा सभी दिन भगवान के है,और ये विशेष दिन भी किसी को शुभ भी अशुभ भी है।यहाँ तक बहुत जाँच परख कर निकाले महूर्त में भी बहुत बुरा घटित हो जाता है।यो ये एक व्यक्तिगत स्वीकृति से होते हुए सामाजिक स्वीकृति तक एक प्रेमव्यवस्था है।
हर रिश्ते में एक अपनी मिठास होती है।और सभी रिश्ते के मध्य की मिठास होते हुए भी भिन्न भिन्न होती है।यो प्रेमाभक्ति की मिठास शब्दों से होती हुयी परस्पर परम्पराओं की शगुन मिठाई के देने से होती है।यो आज की मिठाई है-चॉकलेट!!
और वेलेंटाइन का अर्थ है ही-शुभत्त्व प्रेम का चरम!! यानि दिव्य प्रेम का चर्मोउत्कृष्!!और उसकी मीठी मिठाई की मिठास
यो इसी दूसरे दिन की प्रेमभिव्यक्ति पर ये मीठी सी शब्दों की मिठाई चॉकलेट रूपी छोटी से प्रेम कविता यहाँ इस प्रेम सफर की एक कड़ी के रूप में प्रस्तुत है..

  !!चॉकलेट डे🍫!!
 [एक प्यार ए सफर-3]

मीठी सी यादों को लेकर
सो कर देखा मीठा ख़्वाब।
तुम आई नजदीक मेरे ओ
झुक दे गयी लब चूम शबाब।।
क्या कभी हम बीच हो
तकरार तो कुछ टूटेगा नहीं।
कभी दिल बाहरी गमों को ले
हो परेशान तो कुछ छूटेगा तो नहीं।।
कह कर भी सकून न आये
तो क्या बुरा तो नहीं मानोगे।
क्या पास बैठकर भी हममें
न हो बात तो अकेला नहीं जानोगे।।
क्यों कर आया ऐसा ख्याल
क्यों है आया ऐसा मलाल।
मुझे तुझे और और भी दुनियां
रिश्ते हैं,प्यार लेता सम्भाल।।
सदा एक सा कुछ नहीं रहता
और ना ही रहना बनता है।
पर खुलापन और बेबाकी
अदब संग सदा बनता है।।
तब कितना ही जहाँ ग़म आये
या खुद को कुछ ना भाये।
पर बात सदा कहनी और करनी
एक दूजे कर पहल फरमाये।।
बिन बोले भी बातें होती
नजदीक बिन संगत रातें होती।
बिन छुए अहसास भी होता
प्यार मुझे है,बस कहता।।
यही प्यार की मिठास है
यही संगत की साँस है।
दो है पर एक बन जीते जब
यही बनता खुद विश्वास है।।
खिला दे मुस्कान दूजे चहरे
जगा दे अहसास अपने पन का।
बिन जताए भरोसा जब बने
वही सच्ची मिठास है खनका।।

       क्रमशः-4 टेडी बियर डे..

सत्यसाहिब जी…
Www.satyasmeemission. org

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here